Friday, July 18, 2008

आईफोन 3जी की दुनिया हुई दीवानी


सत्यव्रत मिश्र
तकनीक की दुनिया में आज की तारीख में बस एक ही चर्चा चल रही है। उस चर्चा का ताल्लुक है एप्पल के नए आईफोन 3जी से। इस फोन की तो आज दुनिया दीवानी है।
लोगों में इस फोन को जल्दी से जल्दी अपनाने की होड़ मची हुई है। दीवानगी हो भी क्यों न? आखिर इसका लंबे समय से इंतजार भी किया जा रहा है। वैसे, होता यह है कि जिस चीज का लंबे वक्त से इंतजार होता है, उसमें अक्सर बड़ी खामियां होती हैं। इस वजह से लोगों का दिल खट्टा होता है। लेकिन आईफोन 3जी ने किसी को निराश नहीं किया है।
इस फोन में एप्पल ने आईफोन की पुरानी दिक्कतें को सुधारने की अच्छी-खासी कोशिश की है। बड़ी बात यह है कि उसकी कोशिश रंग भी लाती नजर आ रही है। साथ ही, इस फोन में कई ऐसे नई फीचर भी हैं, जो आपके होश उड़ाकर रख देंगे। सबसे बड़ी बात यह है कि अब तक आईफोन को युवाओं का फोन समझा जाता था। लेकिन आईफोन 3जी के जरिये कंप्यूटर जगत की दिग्गज कंपनी एप्पल ने अब सेलफोन की दुनिया के दिग्गज कंपनी ब्लैकबेरी को चुनौती दी है। इसलिए तो एप्पल ने भी अपने इस नए फोन में 'पुश' ईमेल की सु्विधा डाल दी है। हालांकि, इसके लिए उसने अपने ट्रेंडी लुक्स और मल्टीमीडिया फीचर्स के साथ कोई भी छेड़छाड़ नहीं की है।

कैसे जुदा है आईफोन 3जी?

अब जब आईफोन 3जी बाजार में आ गया तो लोगों के दिल में यह सवाल उठना तो लाजिमी ही है कि यह पुराने वाले आईफोन से कैसे अलग है? हम बताते हैं। पहली बात तो यह कि नए आईफोन को 3जी तकनीक पर काम करने के लिहाज से बनाया गया है। इसका मतलब इसमें आप तेज रफ्तार इंटरनेट का बड़े मजे से लुत्फ उठा सकते हैं। पुराने आईफोन को इस्तेमाल करने वालों की एक बड़ी शिकायत यह रहती थी कि उनका फोन बहुत धीरे काम करता है। आईफोन 3जी के साथ एप्पल ने उनकी यह शिकायत भी दूर कर दी है। यह फोन पुराने वाले आईफोन के मुकाबले दो गुना ज्यादा तेज काम करता है। साथ ही, इसके लुक्स का भी काफी ध्यान रखा गया है। इसके टच स्क्रीन की लंबाई 3।5 इंच बरकरार रखी गई है, लेकिन पहले की तुलना में नए फोन का टच स्क्रीन ज्यादा चटख है। ऊपर से यह फोन पुराने वाले आईफोन के मुकाबले काफी ज्यादा पतला भी है। इस फोन के जरिये एप्पल ने पहली बार बिजनेस फोन के दीवानों को भी लुभाने की कोशिश की है। इसलिए तो इसमें बिजनेस से जुड़े कई सारे फीचर्स हैं, लेकिन उनमें सबसे खास है पुश ईमेल। जी हां, अब आप 24 घंटे दुनिया से जुड़े रह सकते हैं।जैसे ही कोई ईमेल भेजगा तो वह उसे आप अपने आईफोन 3 जी के जरिये भी पढ़ सकेंगे। अगर आप रास्ता भटक गए हैं, तो आपका फोन आपको राह दिखलाएगा। यह मुमकिन हो पाएगा, फोन के इनबिल्ट जीपीएस और गूगल मैप्स की मदद से। इसकी एक सबसे बड़ी खूबी है, मल्टीटास्किंग। आम फोनों में या तो आप बात कर सकते हैं या फिर डेटा ट्रांसफर। लेकिन आईफोन 3जी में आप बात करने के साथ-साथ डेटा भी ट्रांसफर कर पाएंगे। साथ ही, आप चाहें तो मैप्स का इस्तेमाल भी अपने दोस्तों के साथ बातें करते हुए बड़े मजे के साथ कर सकते हैं। यह सब मुमकिन हो पाया है, इसके नए सॉफ्टवेयर की वजह से। इसमें एप्पल ने इस्तेमाल किया है अपना नया आईफोन 2.0 सॉफ्टवेयर। इसकी वजह ये फोन काफी जबरदस्त बन गया है। ऊपर से, इसमें एक अनोखा फीचर है पैरेंटल कंट्रोल का। इस फीचर्स की वजह से आप अनचाहे वेबसाइटों को ब्लॉक कर सकते हैं। फिर चाहे आपके दोस्त या फिर आपके बच्चे जितनी चाहे कोशिश कर लें, लेकिन वो उन अनचाहे वेबसाइटों को आपके फोन पर सर्फ नहीं कर पाएंगे। इसमें आपको मिलेगा एक अनोखा फीचर, जिसे नाम दिया गया है एप्पस्टोर का। इसके जरिये आप गेम्स, बिजनेस, स्पोटर्स और स्वास्थ्य से जुड़ी हुई कई सेवाओं का इस्तेमाल कर सकते हैं।हालांकि, इसके लिए आपको कुछ पैसे खर्च करने पड़ेंगे। यह फोन 8 और 16 जीबी की मेमोरी के साथ उपलब्ध होगा। इसलिए इसमें आपके पास गाने कम पड़ जाएगें, लेकिन मेमोरी कम नहीं पड़ेगी। साथ ही, इसमें मौजूद आईपॉड की आवाज भी काफी जबरदस्त है। सबसे मजे की बात यह है कि यह फोन पुराने आईफोन के मुकाबले दाम में आधा है, जबकि इसकी खूबियां उससे दोगुनी हैं।

तस्वीर का दूसरा पहलू

इसमें कोई शक नहीं है कि आईफोन का यह नया वर्जन काफी जबरदस्त है। लेकिन यह बात भी सच है कि एप्पल कंपनी ने अपनी गलतियों से पूरी तरह से सीख नहीं ली है। इसलिए तो ऐसी कई खामियां जो पुराने आईफोन में थीं, आपको आईफोन 3जी में भी मिल जाएंगी। मिसाल के तौर पर एफएम रेडियो को ही ले लीजिए। एप्पल ने अपने नए वर्जन में भी एफएम रेडियो की सुविधा नहीं दी है। साथ ही, यह एक लॉक्ड फोन है। मतलब, अगर आप इस फोन को एयरटेल से खरीदते हैं, तो इसमें किसी और सेलफोन कंपनी का सिम काम नहीं कर पाएगा। इसे अनलॉक करने के वास्ते आपको मोटी रकम खर्च करनी पड़ सकती है। वैसे, यह फोन अनलॉक हो भी जाएगा, इसकी भी गारंटी नहीं है। इस फोन को लॉन्च हुए एक हफ्ता बीत चुका है, लेकिन अब केवल ब्राजील की एक टीम ही अनलॉक कर पाई है। ऊपर से, दुनिया के कई हिस्सों से इसमें सिग्नल की दिक्कत आने की शिकायत आ रही है। इससे भी बड़ी बात यह है कि अभी तक अपने मुल्क में 3जी मोबाइल सर्विस का आगमन नहीं हुआ है। इस मुद्दे पर टेलीकॉम कंपनियों और सरकार के बीच ठनी हुई है। बार-बार 3जी लाइसेंस देने की तारीख आगे बढ़ाई जा रही है। ऐसे में आईफोन का यह नया अवतार भारत में कितना कामयाब हो पाएगा, यह देखने की बात है। ऊपर से इसमें कहने को तो दो मेगापिक्सल का कैमरा तो लगा दिया गया है, लेकिन उस कैमरे की क्वालिटी दो मेगापिक्सल के बराबर नहीं है। साथ ही, उसमें फ्लैश नहीं है।ऊपर से, इस कैमरे से आप वीडियो भी रिकॉर्ड नहीं कर पाएंगे। कहने को तो यह एक मल्टीमीडिया फोन है, लेकिन इसमें मेमोरी कार्ड के लिए कोई स्लॉट नहीं है। साथ ही, इसमें आप कोई ईमेल भी सर्च नहीं कर सकते। मतलब आपको किसी ईमेल की तलाश है, तो आपको शुरू से लेकर आखिर तक अपने इनबॉक्स को खंगालना पड़ेगा। लेकिन सबसे बड़ी खामी है, इस फोन का काफी महंगा होना। आप भले ही केवल नौ-दस हजार रुपये चुकाकर इसे घर ला सकते हैं, लेकिन इसके बाद आपको हर महीने इसके लिए मोटी फीस चुकानी पड़ेगी। विदेशों में तो ऐसा ही होता है। पूरी उम्मीद है कि अपने मुल्क में आईफोन 3जी को उतारने वाली कंपनियां, एयरटेल और वोडाफोन भी इसी मॉडल को अपनाएंगी।

दीवानी है दुनिया

एप्पल की इस नए फोन की तो दुनिया दीवानी है। अभी इसे लॉन्च हुए केवल एक हफ्ते हुए हैं, लेकिन अब तक 10 लाख से ज्यादा आईफोन 3जी फोन बिक चुके हैं। विश्लेषकों के मुताबिक यह अपने-आप में एक रिकॉर्ड है। उनका कहना है कि माना हफ्ते भर में एक करोड़ फोन बेच लेती है। लेकिन जरा उसके मॉडल्स की तादाद भी देखिए।नोकिया, मोटोरोला, सैमसंग और एलजी के मॉडलों की तादाद सैकड़ों में है। इसलिए उनकी बिक्री भी ज्यादा है। लेकिन आईफोन तो एप्पल का इकलौता मोबाइल फोन है। इसके अपने हाथों में जल्द से जल्द से थामने के लिए अमेरिका, यूरोप और एशिया में बहुत सारे लोगों ने कई-कई रातें सड़क पर गुजारी। भारत में भी अब लोगों को इसे खरीदने के लिए बस कुछ दिनों का ही इंतजार करना पड़ेगा। वोडाफोन और एयरटेल ने अक्टूबर से इसकी बिक्री शुरू करने का इरादा जताया है।

courtesy: bshindi.com

2 comments:

अनुराग said...

ham bhi besabri se intzaar kar rahe hai ,par kuch features sunkar niraash hue hai.....par kya airtel htc ka diamond phone nahi utaar raha.?jankaari dene ke liye shukriya,mujhe kisi ne bataya keemat 25 se 27 hzaar ke aas pas hogi ?

Manish Kumar said...

shukriya is jaankari ke liye